why the Patience is the power of human ?(क्यों धैर्य मानव की शक्ति है ?)

best img of patience

Is patience the best solution to all problems?

The king went for hunting alone in the forest without patience( राजा अकेले जंगल में शिकार के लिए निकला)-

एक दिन किसी देश का एक राजा जंगल में शिकार के लिए जाता है , उसने सेनिको के साथ चलने का धैर्य ( patience) नहीं रखा | और अकेले जंगल में शिकार के लिए निकला लेकिन वह रास्ता भटक गया।

उसने एक पहाड़ की ऊंची छोटी पर चढ़कर देखा लेकिन उसे दूर दूर तक कोई भी व्यक्ति या गांव नहीं दिखा। निराश होकर वो पहाड़ी से नीचे उतरा और आगे बढ़ा। अंधेरा होता जा रहा था और कोई भी मार्ग नहीं दिख रहा था।

patience  is the best policy to give to all solution
hunter king and dear

darkness fell completely (अँधेरा पूरी तरह घिर गया)

कुछ दूर चलने के बाद अँधेरा पूरी तरह घिर गया। कुछ देर बाद काफी दूर से रोशनी चमकी। फिर वह उस दिशा में चलने लगा और शीघ्र ही एक झोंपड़ी पर पहुँच गया।

राजा ने देखा की झोपड़ी के बाहर एक बूढ़ी औरत अपनी बकरी को चारा खिला रही है।

राजा को देखकर बूढी औरत सोचने लगी की शायद यह कोई सेना का सिपाही है और वो उसका स्वागत करने लगी।

उसने राजा को पीने के लिए पानी दिया और आराम करने के लिए एक चटाई बिछा दी। कुछ देर बाद उसने गरमा गरम चावल और करी की थाली राजा के सामने रख दी।

The king was so hungry (राजा बहुत भूखा था)

राजा को जोरों की भूख लगी थी सो उसने जल्दी से गरम खाने में अपनी उंगलिया डाल दीं। गर्म भोजन ने उसकी उँगलियों को जला दिया, और उसने कुछ चावल फर्श पर गिरा दिए।

बुढ़िया ने यह देखा और बोली, “ओह, तुम अपने राजा की तरह बहुत अधीर और उतावले लगते हो। इसलिए तुमने अपनी उंगलियां जला ली हैं और ज़मीन पर भी चावल गिरा दिए।

बूढी औरत की बातें सुनकर राजा हैरानी में पड़ गया और पूछा, “आपको ऐसा क्यों लगता है की राजा अधीर और जल्दबाज़ है।

बुढ़िया मुस्कुराई और बोली, “बेटा गलत मत समझना, हमारे राजा अपने सभी दुश्मन किलों पर कब्जा करने का एक बड़ा सपना देख रहे हैं। लेकिन सभी छोटे किलों की अनदेखी कर रहे हैं।

Old women explain to the king (बूढ़ी औरत राजा को समझाती है)

राजा ने बूढी औरत को टोकते हुए कहा, “यह तो अच्छी बात है। इसमें दिक्कत क्या है?”

वह मुस्कुराई और जवाब दिया, “रुको, मेरे बेटे। जैसे खाना खाने में आपकी अधीरता थी, वैसे ही आपने अपनी उंगलियां जला दीं और कुछ खाना बर्बाद कर दिया।

उसी तरह, दुश्मनों को जल्दी से हराने के चक्कर में राजा की अधीरता और जल्दवाजी के परिणामस्वरूप उसकी सेना में सैनिकों का नुकसान होता है।

इसके बजाय, यदि आप पहले किनारे पर और फिर बीच में कम गर्म खाना खाते हैं, तो आप अपनी उंगलियां नहीं जलाते और अपना खाना बर्बाद भी नहीं करते।

ऐसे ही राजा को छोटे किलों को निशाना बनाकर अपनी स्थिति मजबूत करनी चाहिए। यह उसे सेना में अपने जवानों को खोए बिना विशाल किलों पर कब्जा करने में मदद करता है। ”

The king feel our mistakes (राजा आपकी गलतियों को महसूस करता है)

यह सुनकर राजा को अपनी गलती का एहसास हुआ और उसने महसूस किया कि धैर्य रखना चाहिए और किसी भी स्थिति में जल्दबाजी करने से बचना चाहिए।

यह भी पढ़ें ; मानसिकता की जंजीरो को कैसे तोड़े

दोस्तों यदि जीवन में हमें कुछ भी हांसिल करना है तो हमें धैर्य रखना जरूरी है। हमें पहले प्रक्रिया को समझना चाहिए और फिर उस पर काम करना चाहिए। यदि हम तुरंत परिणामों की तलाश में जुट जायेंगे, तो हम अधीर हो जाएंगे और अपने जीवन में हम जो चाहते हैं, उस तक कभी नहीं पहुंच पाएंगे।

दुनिया में कई तरह के महान आविष्कार हुए अगर अविष्कारक धैर्य खो देते तो वे कभी आविष्कार नहीं कर पाते। थॉमस ऐडिसन अगर कुछ प्रयोग करके छोड़ देते तो क्या आज हम सभी अपने गर में रोशनी कर पाते |

moral of the story-

भले ही देर लग सकती है पर Patience रखकर पूरे dedication के साथ हम जीवन में कुछ भी हांसिल कर सकते हैं। इसे ही कहते हैं ‘ इसी को कहते है -Power of Patience’ – धैर्य की शक्ति

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to Top