हार गया लेकिन खुद से जीत गया

दोस्तों नमस्कार आप सभी का स्वागत है
आज मैं आपको एक ऐसी motivational stories बता रहा हु जिसे पढ़ने के बाद
आपकी ऊर्जा पहले जैसी नही रहेगी तो चलिए
बिना आपका समय गवाये motivational story को शुरू करते है

रमन का हौसला

रमन नाम का एक लड़का था उसको दौड़ने का बहुत शौक था।
वह कई मैराथन में हिस्सा ले चुका था।परंतु वह किसी भी race को पूरा नही करता था।
एक दिन उसने ठान लिया कि चाहे कुछ भी हो जाये वह race पूरी जरूर करेगा।
अब रेस शुरू हुई रमन ने भी दौड़ना शुरू किया धीरे-धीरे सारे धावक आगे निकल रहे थे
मगर अब रमन थक गया था ।वह रुक गया फिर उसने खुद से बोला अगर मैं दौड़ नही सकता तो
कम से कम चल तो सकता हु ।
उसने ऐसा ही किया वह धीरे-धीरे चलने लगा मगर वह आगे जरूर बढ़ रहा था।
अब वह बहुत ज्यादा थक गया था और नीचे गिर पड़ा।
उसने खुद को बोला की वह कैसे भी करके आज दौड़ को पूरी जरूर करेगा।
वह हिम्मत करके वापस उठा और लड़खड़ाते हुए आगे बढ़ने लगा और अंततः वह रेस पूरी कर गया।
माना कि वह रेस हार चुका था लेकिन आज उसका विश्वास चरम पर था क्योंकि आज से पहले रमन
race को कभी पूरा ही नही कर पाया था।
वह जमीन पर पड़ा हुआ था क्योंकि उसके पैरों की मांसपेशियों में बहुत खिंचाव हो चुका था।
लेकिन आज वह बहुत खुश था क्योंकिआज वह हार कर भी जीता चुका था।

कहानी से सीख

दोस्तों हम भी तो इस तरह की गलती करते है हमारी life में
कभी भी अगर कोई परेशानी होती है तो उस काम को नही करते और छोड़ देते है
अगर आप एक student हो और रोज 10 hr की study करते हो
और किसी दिन कोई परेशानी की वजह से आप पढ़ाई नही करते मगर आपको
भले ही 5 hr मिले पढ़ना जरूर चाहिए।
हरीश की कहानी से हमे यही सीखने को मिलता है कि अगर हम
लगातार आगे बढ़ते रहे तो एक दिन हम हार कर भी जीत
जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to Top