Inspirational Story In Hindi

समय की कीमत, अनोखी कहानी-

हम एक से बढ़कर एक प्रेरणादायक कहानियां प्रकाशित करते हैं। पेश है इसी कड़ी में आज हम “समय की कीमत- अनोखी कहानी” best motivational story in hindi प्रकाशित कर रहे हैं . आशा है आपको ये कहानी पसंद आएगी.

http://nipsar.com

बहुत साल पहले एक छोटे से गाँव में एक जमींदार के दो लड़के थे, दोनों देखने में बेहद खुबसूरत थे, एक का नाम मुन्ना तो दुसरे का नाम चुन्ना था. दोनों में मुन्ना के दिमाग तेज़ था, जबकि चुन्ना का दिमाग थोड़ा धीमे चलता था, लेकिन जो भी वो काम करता वो एकदम सही करता. मुन्ना हमेशा जल्दबाजी में काम करता था, जो ख़राब हो जाता. दोनों की गाँव में खूब वहा वाही होती. गाँव में किसी को कोई भी परेशानी होती तो सब मुन्ना और चुन्ना के पास ही जाते थे.

गाँव वाले दोनों ने बहुत खुस रहते, लेकिन जमीदार को दुख होता, दरअसल, मुन्ना को समय की कीमत की समझ नहीं थी, जबकि चुन्ना समय की अहमियत को समझता था, और उसका सदुपयोग करता था. जमीदार को मुन्ना की फ़िक्र होती थी, वो हमेशा उसे समझाता था, लेकिन मुन्ना उनकी बात नहीं मानता था.

अब जमींदार बुढा हो चूका था, उसने अपने दोनों बेटों को बराबरी के साथ हिस्सा बाट कर दिया. फिर एक दिन जमीदार का निधन हो गया, अब मुन्ना और चुन्ना दोनों के पास बराबर बराबर दौलत आ गई थी. मुन्ना को समय की कीमत की कदर नहीं थी, वो आराम से बैठ कर खता गया पर अपने सारे कामों को टालता रहा. मुन्ना ये सोंचता अभी आराम कर लेते हैं बाद में ये काम कर लेंगे और धीरे-धीरे समय बीतता गया, वहीं चुन्ना समय की कीमत समझता था, उसने समय रहते,

अपनी सारी दौलत को बढ़ाने की सोंची और दिनरात मेहनत करता, चुन्ना कभी भी फालतू समय बर्बाद नही करता था. कई साल बीत गए, मुन्ना ने आराम से अपनी सारी दौलत खत्म कर दी और वहीं चुन्ना ने अपनी मेहनत से अपनी सारी दौलत को कई गुना बढ़ा दिया. अब चुन्ना के पास बहुत सारे पैसे हो गए, जबकि मुन्ना गरीब हो गया. मुन्ना कोई भी काम शुरू करता तो उसे टालता रहता वो सोंचता इस काम को आज नहीं कल कर लेंगे और और जब कल आता तो फिर वो अपने काम को कल पर टाल देता, मुन्ना कोई भी काम समय पर नहीं करता था.

वहीं चुन्ना जो भी काम शुरू करता उसे उसी दिन खत्म करता उस काम को अगले दिन नहीं टालता, उस काम को वो समय रहते कर लेता था और इसी की बदौलत वो इतना अमीर बन गया था.

चुन्ना दिल का बहुत अच्छा था उसने अपने भाई मुन्ना की मदद के लिए हाँथ बढाया और उसकी जमकर मद्द की, लेकिन मुन्ना सुधरने वालों में से कहा था, उसने फिर वही गलती की, जो उसने पहले की थी. समय की कीमत न समझ कर.

कहानी से सीख:- हमें हमेशा समय की कीमत समझनी चाहिए, किसी भी काम को कल पर नहीं टालना चाहिए, और अपनी गलतियों से सीखना चाहिए\.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to Top