Think And Grow Rich Hindi Summary ( Part – 1 )

आँथर एक छोटा बच्चा था जब एंड्रयू कार्नेजी ने उन्हें अपना एक राज बताया । एक ऐसा राज जिसकी बदौलत 500 अमीर लोगो ने अपनी किस्मत खुद लिखी ।

नेपोलियन हिल इसे बीस सालो तक ढूंढता रहा और आखिर में उन्हें पता चला कि सक्सेस किसी भी प्रोफेशन या करियर में मिल सकती है और एक अनपढ़ या कम पढ़ा लिखा इंसान भी एक अमीर बन सकता है और ये सीक्रेट लेखक अपने रीडर्स के साथ बांटना चाहता है कि आखिर कैसे 500 अमीर लोगो को अपनी जिंदगी में इतनी बड़ी सफलता मिली ?

और ये सीक्रेट सिर्फ उनके लिए है जो इसे जानने के लिए तैयार है । जिन्होंने ये सीक्रेट एप्लाई किया उनका अमीर बनने का सपना पूरा हुआ है लेकिन ये ऐसे ही इतनी आसानी से नहीं हो सकता , आपको कुछ एफर्ट तो करने ही पड़ेंगे ।

इस किताब में आप जानेगे कि सफलता पाने के लिए क्या और कैसे करना है कैसे और कब से इसकी शुरूवात करे ? हां , कोई भी सफलता पा सकता है मगर ये सिर्फ उसे ही मिलेगी जो इसे असलियत में अपनाएगा । इस किताब के हर चेप्टर में वो तेरह स्टेप्स बताये गए है जिन्हें नेपोलियन हिल ने अमीर बनने के लिए रेकमंड किया है कोई भी इन स्टेप्स को अपनाकर अपनी जिंदगी सक्सेसफुल बना सकता है।

अगर आप अपनी जिंदगी में पैसा , मान – सम्मान , पर्सनेलिटी , सुकून और ख़ुशी चाहते है तो इसका राज आप उन अमीर लोगो से जान सकते है । जैसे – जैसे आप ये तेरह स्टेप्स पार करेंगे , उस सीक्रेट के और करीब आते जायेंगे ।

अब तैयार हो जाईए क्योंकि जो मौका अब आपके हाथ लगने वाला है वो आपकी लाइफ बदल कर रख देगा । नेपोलियन हिल ने हमें इस सीक्रेट का एक क्ल्यू दिया है कि “ सब तरक्की , सब अमीरी की शुरुवात के पीछे एक आइडिया है।

STEP – 1 इच्छा ( Desire ):-

जब आप किसी चीज़ को पूरे दिल से चाहते है तो वो हकीकत बनके आपके सामने आ जाती है । अपने सपने के बारे में लगातार सोचने से आप उसे पाने के रास्ते ढूढने लगते है ।

एक टर्म है जिसे मनी – कोशेसनेस कहते है जिसका मतलब है पैसे के पीछे दीवाना होना यानी आपके मन में खूब पैसा कमाने की इच्छा है ये दिमाग की एक हालत है यानी स्टेट ऑफ़ माइंड जहाँ आप खुद को पहले से ही अमीर समझने लगते है जब आप मनी – कोंशेस बनते है तो पैसा कमाने लगते है हम यहाँ पर 6 स्टेप्स बता रहे है जो पक्का आपको मनी – कोशेस बना देंगे पहला तो ये कि आप कितना पैसा कमाना चाहते हो , ये सोच लीजिये । सिर्फ ये बोलना काफी नहीं होगा की मुझे बहुत सारा पैसा कमाना है ।

आपको एक फिक्स अमाउंट तो सोचना ही पड़ेगा ताकि आप अपना सपना सच में पूरा कर सके दूसरा स्टेप है कि आपको ये तय करना होगा कि इतना पैसा कमाने के लिए आप क्या कर सकते है,सोचना ही पड़ेगा ताकि आप अपना सपना सच में पूरा कर सके।

दूसरा स्टेप है कि आपको ये तय करना होगा कि इतना पैसा कमाने के लिए आप क्या कर सकते है क्योंकि मुफ्त में तो आपको कुछ मिलने से रहा और तीसरा स्टेप है कि वो तारीख डिसाइड करना जिस दिन आप अपनी सोची हुई रकम पा सकेंगे चौथा स्टेप होगा एक ऐसा खास प्लान सोचना जिससे आप ये पैसा कमा सके और एक आर प्लान करने के बाद आपको बिना झिझके उस रास्ते पर आगे बढ़ना है ।

आपका पांचवा स्टेप होगा कि आप अपना फुलप्रूफ प्लान कहीं लिख ले कितनी रकम आप चाहते है , कब तक चाहते है और आपका प्लान क्या होगा , ये हर चीज़ आप एक पेपर पर लिख ले और आखिर में छठा स्टेप है कि अपने इस स्टेटमेंट को दिन में दो बार पढ़े और याद करे ।

अगर सच में आपके अंदर अमीर बनने की ख्वाहिश है तो इन स्टेप्स को फोलो करना आपके लिए कोई मुश्किल बात नहीं है इस तरह आप देखेंगे और महसूस करेंगे और यकीन भी कर पायेंगे कि आपके पास पैसा है इसे दोहराते रहे और आप मनी – कोंशेस बन जायेंगे । एक बात याद रखिये कि ” हर बड़ी अचीवमेंट हासिल होने से पहले एक सपना ही लगती है।

STEP – 2 सकारात्मकता(Positivity):-

एक ऐसी ताकत है इस युनिवेर्स में जो हमें उन चीजों के पास ले आती है जिन पर हम यकीन रखते है जब हमें पोजिटिव ख्याल आते है तो हमारे साथ खुद ही सब कुछ अच्छा होने लगता है । लेकिन जब हम नेगेटिव सोचते है तो बुरी चीज़े अपने – आप होने लगती है ।

देखा जाए तो बेड लक या बुरी किस्मत जैसी कोई चीज़ नहीं होती । बस हम किस पर यकीन करते है वो मायने रखता है । कुछ लोग बेवजह ही खुद को बदकिस्मत मानने लगते है और कुछ तो खुद को हमेशा गरीब ही समझते रहते है ।

अगर हमें ये यकीन होने लगे कि हम अपने हालात नहीं बदल सकते तो इसका मतलब कि हमने अपनी बदकिस्मती खुद लिखी है । क्योंकि जैसा हम अपने दिमाग को बनायेंगे वही चीज़े हकीकत में होने लगेंगी । अब अगर आप अपने दिमाग में डर और शक पैदा कर ले तो आप हमेशा डरते ही रहेंगे और अपने आप पर भरोसा नहीं रख पायेंगे । ऐसा करके आप खुद को एक दायरे में बाँध रहे है जिससे बाहर आ पाना मुश्किल होगा । मनी कोंशेस बनने के लिए खुद पर भरोसा रखना बहुत ज़रूरी है । याद रहे कि आप हर पल खुद को अमीर देखे , महसूस करे और माने । खुद पर यकीन रखे कि एक दिन आप बहुत सारा पैसा कमाएंगे ।

जो लोग हर बात पर बोलते है कि वे तो गरीब है , ऐसे लोग कभी अमीर बन ही नहीं पाते है । जो हम बनना चाहते है , खुद पर यकीन करके वही बन सकते है । जैसे विचार हम दिमाग में भरेंगे वही एक दिन हमारी सच्चाई बन जाती है । तो मर्जी आपकी है कि आप गरीबी चुनते है या अमीरी । एक बार अपने मन में अमीर होने का ख्याल बैठा लीजिये फिर आपका यकीन आपके लिए सारी लिमिटेशन को हटाकर आपको सफलता दिला देगा ।

STEP – 3 Auto – Suggestion:-

हमारा सब – कोंशेस दिमाग असल में एक उपजाऊ जमीन की तरह है । हम अगर इसमें काम के बीज नहीं डालेंगे तो इसमें घास – फूस उगने लगेगी । इसके लिए हमें ऑटो – सजेशन या शेल्फ – सजेशन अपनाना होगा ताकि हमारे दिमाग में बेकार का कचरा ना उगे । हम खुद इतने काबिल है कि अपने सब – कोशेस दिमाग में आने वाले ख्यालो को चुन सकते है।

हमारा यही सब – कोंशेस माइंड हमारी सोच को हकीकत बनाता है । लेकिन ऐसा करने के लिए हमें ऑटो – सजेशन से इस तक पहुंचना होगा । इसलिए तो कहते है कि अपने दिमाग को हमेशा पोजिटिव सोच विचारो से भरे ।

और जब हम इस पर कंट्रोल नहीं कर पाते है तो तभी हमारी हार होती है । ये बात हर दिन दोहराए कि आप क्या चाहते है । अगर आप अमीर होना चाहते है तो इसके लिए तैयार रहे । अपनी इस चाहत को अपनी आदत बना ले। फिर एक दिन आपकी यही आदत आपको असल में ऐसे मौके देगी जिससे आपकी सफलता एक हकीकत बन जायेगी ।

आज से ही खुद को एक अमीर और सफल इंसान समझना शुरू कर दे । अपने गोल तक पहुचने का प्लान आपके सब – कोशेस में ही है बस ऑटो – सजेशन की प्रेक्टिस करते रहे ताकि आपका प्लान आपके पास खुद ब खुद आ सके । इस कोशिश में कभी भी हार ना माने । ये बात समझ ले कि आपको कुछ भी मुफ्त में नहीं मिलने वाला ।

कुछ पाने के लिए बहुत कुछ करना भी पड़ेगा । तो आज से ही अपने दिमाग के बगीचे में अछे – अच्छे पोजिटिव बातो के बीज डालना शुरू कर दे ।

STEP 4- SPEIALIZED KNOWLEDGE:-

हेनरी फोर्ड के पास कोई फॉर्मल एजुकेशन नहीं थी लेकिन उसे ऑटो – मोबाइल्स के बारे में अच्छी – खासी नॉलेज थी । वर्ल्ड वार के दिनों में उसने शिकागो न्यूज़ पेपर पर मानहानि का दावा किया था क्योंकि अखबार ने उसे इग्नोरेंट पेसिफिस्ट यानी उदासीन शांतिवादी करार दिया था । अदालत में ट्रायल के दौरान उससे हज़ारो सवाल पूछे गए ।

वकील ये साबित करना चाहता था कि हेनरी वाकई में इग्नोरेंट है । अदालत में उसके उटपटांग सवालों से फोर्ड परेशान हो गया था । उसने जवाब दिया ” जो भी सवाल आप मुझसे पूछना चाहते हो उनका जवाब देने के लिए मै यहाँ अपने एडमेन को बुला सकता हूँ , अब क्या आप मुझे बताएँगे कि जब मै आदमियों को काम पे रख सकता हूँ जो मुझे हर बात की जानकारी दे तो मुझे अपने दिमाग में इतनी नॉलेज भरने की क्या ज़रुरत है ? “ फोर्ड के इस जवाब अदलात में सन्नाटा छा गया ।

फोर्ड के पास कोई ख़ास जेर्नल नॉलेज नहीं थी मगर अपने काम की उसे ख़ास नॉलेज ज़रूर थी । उसे ये मालूम था कि उसका गोल क्या है , तभी तो जो लोग ज्यादा पढ़े – लिखे नहीं भी होते फिर भी वे सक्सेसफुल होते है ।

जो चीज़े हम जेर्नल नॉलेज पढ़कर या स्कूल में सीखते है अक्सर हमारे उतने काम नहीं आती जब तक कि हम असली जिंदगी में इस्तेमाल नहीं करते । देखा जाए तो ये सिर्फ किताबी पढ़ाई है , प्रेक्टिकल नहीं । इसे भी पढ़े-Retire Young Retire Rich Book Summary in Hindi अगर आपका किसी चीज़ में ख़ास इंटरेस्ट है तो आप उसमें कोई शोर्ट कोर्स कर सकते है या उसकी ट्रेनिंग ले सकते है । इस तरह आपकी उस चीज़ की पूरी नॉलेज अच्छी तरह से हासिल कर लेंगे जो आगे चलकर आपके बिजनेस में काम आ सकता है ।

सीखना केवल स्कूल तक ही नहीं होता , आप जिंदगी में किसी भी उम्र में कुछ भी सीख सकते है । चाहे आप फॅमिली वाले हो या फुल टाइम जॉब कर रहे हो , अपने हुनर को सीखने के लिए वक्त तो निकाल ही सकते है । एक स्पेश्लाइज्ड नॉलेज होनी बहुत अच्छी बात है क्योंकि आपको पता चलता है कि फ्यूचर में आपको क्या सीखना है और क्या काम करना है । जो आपका हुनर है उसे इम्प्रूव करना बहुत ज़रूरी है ।

अक्सर कंपनीज एम्प्लोयीज़ रखते वक्त उनका क्रेडेंशियल तो देखती ही है साथ में उनकी पेर्मोनेलिटी पर भी गौर करती है । आप किस तरह लोगो से या कस्टमर से पेश आते है या सिचुएशन को कैसे हेंडल कर पायेंगे , ये सब बाते भी देखी जाती है । कोई सक्सेसफुल आदमी भले ही एजुकेटेड ना हो मगर उसमे एक ख़ास एम्बीशन और पर्सनेलिटी ज़रूर होती है ।

याद रखे कि “ जो इंसान स्कूली पढ़ाई को ही सब कुछ मान कर सीखना बंद कर देता है , वो हमेशा मामूली इंसान ही बनकर रहेगा। वो भले ही एक मुकाम हासिल कर ले मगर सक्सेस तभी हासिल होती है जब आप जिंदगी में कुछ ना कुछ सीखते ही रहते है ।

STEP 5- कल्पना(IMAGINATION)

बहुत पुरानी बात है एक बार एक बूढा देशी डॉक्टर एक केमिस्ट की दुकान पर गया । उसने दुकान के जवान क्लर्क को कहा कि उसकी कैटल और लकड़ी का पैडल काफी पुराना हो गया है । क्लर्क ने उसे एक नयी कैटल और वुडेन पैडल $ 500 में खरीद लिये । ये रकम उस डॉक्टर की जिंदगी भर की सेविंग जितनी थी ।

डॉक्टर ने उस क्लर्क को कागज़ का एक छोटा टुकड़ा दिया जिसमे एक मेजिक फार्मूला लिखा था । डॉक्टर ने $ 500 क्लर्क से लिये ओर वहाँ से चला गया क्योकि इन पैसो से वो अपना कर्ज़ उतार कर आराम से रह सकता था । उस जवान क्लर्क ने अपनी लाइफ सेविंग उस फ़ॉर्मूले पर इन्वेस्ट कर दी थी ।

उसने उस कागज़ में लिखी चीजों को मिक्स करके मेजिक फॉरमूला बनाया । उस कैटल में उसके हाथ एक किस्म का सोना लगा था जिससे शुगर इंडस्ट्री चलाई गई और जिसकी वजह से लाखो लोगो को रोज़गार मिला। इसने साउथ के एक छोटे से शहर को बिजनेस केपिटल बना डाला । इस तरह वो पुरानी कैटल सारी दुनिया के काम आई । जानते है उस कैटल में क्या मिक्सचर बना था ? कोका – कोला ! जी हाँ , उस मिस्क्चर से जो चीज़ बनी वो कोका – कोला थी ।

और जिसने ये मिक्सचर बनाया उस क्लर्क का नाम था असा केंडलर । लेकिन कोका – कोला की सफलता का सीक्रेट वो कागज़ का पुर्जा नहीं था , वो थी असा कैंडलर की इमेजिनेशन । हमारी चाहतो को पूरा करने के लिये इमेजीनेशन की ज़रूरत पड़ती है ताकि वे हकीकत बन पाए । जो चीज़ आपको सफल होने से रोक रही है वो है सिर्फ आपकी अपनी सोच ।

आप सोच बदलिए , अपनी इमेजिनेशन इस्तेमाल कीजिये फिर देखिये कमाल ! कोका – कोला भी एक आइडीया पर चला । आज जो जितनी भी चीज़े हम अपने आस – पास देखते है , जैसे गेजेट्स या सोशल मिडिया इन सबके पीछे आईडिया ही है । हम में से बहुत से लोग जिंदगीभर एक ब्रेक का इंतज़ार करते रहते है लेकिन सफलता एक दिन में ही नहीं मिल जाती ।

आपका आईडिया ऐसा होना चाहिए जो हर तरह के क्रिटिक्स को झेल सके । इसमें आपको हार , निराशा और डिसकरेज्मेंट भी मिल सकती है । तो इन सब बातो के लिए भी तैयार रहे । अपने आईडिया को अपना जूनून बना लीजिये । बिना रुके लगातार इस पर काम करे । इसे असलियत का जामा पहनाये तभी आपका आईडिया इतना दमदार बन पायेगा कि हर तरह के चैलेन्ज झेल पाए ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to Top