Hyperfocus Hindi Book Summary

दोस्तो, आज कल internet technology की वजह से हमारी जिंदगी में distractions बहुत ज्यादा बढ़ गयी हैं।आप दिन में बार -बार फ़ोन चेक करके सोशल मीडिया के messages पढ़ते होंगे। इससे हमारे दिमाग में फालतू जानकारी आती रहती है। Brain को ये सब कचरा जानकारी भी प्रोसेस करनी पड़ती है। इस वजह से Brain जरुरी चीजों पर Focus ही नहीं कर पाता। लेकिन आज की बुक पढ़कर आप Focus ही नहीं Hyperfocus develop करना सीख जाओगे।

Hyperfocus – Chris Bailey

Author : Chris Bailey

Hyperfocus (Summary in Hindi)

Chapter 1: Switch Off Autopilot Mode

हम बहुत से काम बिना सोचे ही करते हैं। हमें उनकी आदत लग गयी होती है। इसे ही autopilot कहते हैं।

जैसे आराम करने बैठेंगे तो अपने -आप ही टीवी चला देंगे। या यूट्यूब पर अपने आप ही videos आदि देखने लगेंगे।

हम कभी भी काम को divide नहीं करते। हम यह भी नहीं सोचते कि किस काम के लिए हमें ज्यादा attention या focus देने की जरुरत है और किस को नहीं।

इस कारण हम life में बड़े -बड़े बदलाव नहीं ला पाते। और life बस एक रूटीन पर चलती रहती है।

इसलिए लेखक कहते हैं कि हमें इस autopilot mode को बंद करना पड़ेगा।

इसके लिए आप अपने सारे कामों को चार category में बाँट सकते हैं :

1. Necessary Work – ये वो काम होते हैं जो आपको करने ही हैं। जैसे मीटिंग में जाना, File work कम्पलीट करना आदि ।

2. Unnecessary Work – ये वो काम हैं जो आप करते तो हैं लेकिन उतने जरुरी नहीं होते। जैसे files को arrange करना, एक
ही चीज को ज्यादा decorate करते रहना।

3. Distracting Work – ये वो काम हैं जो आपको attract तो करते हैं लेकिन जरुरी नहीं होते। जैसे सोशल मीडिया, Youtube , Instagram आदि।

4. Purposeful Work – ऐसे काम जिनमें आपको अपनी creativity दिखाने का मौका मिलता है और जिन्हे करके आपको ख़ुशी मिलती हो। जैसे कोई ब्लॉग पोस्ट लिखना , Graphic designing, Freelancing , नावेल writing आदि।

इन सब कामों में आपको सबसे ज्यादा Focus , purposeful work में लगाना चाहिए। इनके लिए आपको time के वो घंटे देने चाहिए जब आपकी Energy maximum रहती हो।

बाकी के काम आप उस समय कर सकते हैं जब आपकी Energy कम होती है।

Chapter 2: Enhance Your Attention

हर आदमी की चीजों के प्रति attention अलग होती है। कुछ चीजों पर हम ज्यादा ध्यान देते हैं और दूसरी पर नहीं।

आप अपनी attention उन चीजों को ज्यादा दें जो बेहद जरुरी हों।

Attention बढ़ाने के लिए ये तरीके इस्तेमाल करें –

Boring टॉपिक को interesting बनाने की कोशिश करें। आप खुद से creative question पूछते रहें।

दूसरा यह assume करें कि आप speaker हैं और आप उस concept या काम को खड़े होकर दूसरों को कैसे समझायेंगे। इससे आपका दिमाग activate हो जायेगा। और किसी काम में ज्यादा ध्यान देने लगेगा।

ऐसे ही किसी lecture के दौरान भी कर सकते हैं।

Social media आदि पर आपको Hyperfous की जरुरत नहीं पड़ती।

Chapter 3: Stages of Hyperfocus

किसी भी काम के दौरान Hyperfous बढ़ाने की ये चार stages होती हैं :

1. Choose : सबसे पहले उस object को choose करें जिस पर आपको hyperfocus बढ़ाना है।

2. Eliminate : इसके बाद सारी distractions को हटा दें।

3. Focus : अब सारा ध्यान उस object पर देना शुरू कर दें। अगर study कर रहे हों तो हर line को analyse करें कि क्या कहा जा रहा है। चीजों को imaginate भी करें।

4. Refocus : ध्यान अगर भटक जाये तो जल्दी से उसे वापस ले आयें।

Chapter 4: Remove Distractions

कई बार जरुरी काम करते समय बहुत सी distractions आती रहती हैं। इन्हे हटाने के लिए ये तरीके इस्तेमाल करें :

1. आजकल के ज़माने में फ़ोन सबसे बड़ी distraction है। यह 24 घंटे आपके साथ रहता है। और कभी भी किसी की कॉल आ जाती है। इसे आपका Focus भटक जाता है। इसलिए आप काम करते समय फ़ोन को दूसरे कमरे में रखें या silent मोड पर कर दें।

2. हर दिन हमें तरह -तरह की e -mail आती रहती हैं। उन्हें पढने से आपके दिमाग में तरह -तरह के विचार आने लगते हैं। या आप उनका reply देने लग जाते हैं। इससे आपका बहुत सा time waste हो जाता है। इसलिए फालतू की websites को unsubscribe कर दें। और mails के लिए 5 minutes रूल लगायें। सारी mails 5 मिनट में पढें। जो जरुरी नहीं हैं उन्हें उसी समय delete करते जायें।

3. छोटी -छोटी चीज के लिए मीटिंग की जरुरत नहीं होनी चाहिए। ऐसी meetings न खुद रखें और न ही उनमें जायें। इससे आपका बहुत सा time और energy बच जाएगी। जिसे आप जरुरी काम में लगा सकते हो।

Chapter 5: Hyperfocus as Habit 

आपको अपना फोकस बढ़ाने की आदत बनानी पड़ेगी। हर दिन 3 कामों की list बनाइये और उन पर पूरा Focus देने की कोशिश कीजिये।

जैसे 15 मिनट exercise करने का goal बनाइये। इसके बाद आप हर distraction को हटा दीजिये। और पूरा Focus उस काम को दीजिये। इस बीच कोई भी call मत लीजिये। और काम को बीच में मत छोड़िये।

ऐसे ही अगर कुछ लिखना हो तो पूरे Focus से लिखिए। यह देखिये कि आपकी concentration सबसे ज्यादा कब होती है।

कुछ लोगों का Focus सुबह -सुबह अच्छा होता है। ऐसे लोगों को सुबह जल्दी उठ कर लिखना चाहिए। जबकि कुछ लोगों की concentration शाम के समय अच्छी होती है। तो उन्हें उस समय लेखन कार्य में लगना चाहिए।

बहुत से writers Hyperfocus की मदद से ही बड़े -बड़े novels लिख पाते हैं। और वैज्ञानिक अपने आविष्कार कर पाते हैं। वे अपनी दुनिया में ही लीन होते हैं।

क्युँकि दोस्तों से गपें हाँकने से भी आपकी energy बर्बाद होती है। और आपके दिमाग में फालतू विचार भरते रहते हैं। इसलिए अगर कुछ creative करना है तो अकेले खुश रहना सीखिए।

Chapter 6: Scatterfocus

दोस्तो, यह किताब वैसे तो Hyperfocus पर है। लेकिन इस Chapter में लेखक ने एक और interesting Focus के बारे में बताया है। जिसे Scatterfocus कहा जाता है।

जिसका अर्थ है कि कभी -कभी हमें अपने दिमाग को भटकने देना चाहिए। और उसे follow भी करना चाहिए।

कई बार दिमाग day dreaming करने लगता है। वह अपनी कल्पना की दुनिया में खो जाता है। वह अपने ख्वाबों को पूरा करने के रास्ते ढूँढता है।

ऐसे में यह देखिये कि आपका ब्रेन बार -बार किस सपने के बारे में सोचने लगता है। वही आपका Scatterfocus होता है।

उसे नोट कर लीजिये। और फिर उस पर Hyperfocus लगा दीजिये। जैसे अगर आप बार -बार कोई ब्लॉग शुरू करने की सोचते रहते हैं तो उसे लिख लीजिये। और फिर पूरा Focus ब्लॉग शुरू करने पर लगा दीजिये।

Chapter 7: Recharge Your Brain

बहुत बार कोई complex कार्य करते हुए हमारा दिमाग थक जाता है। इससे हमारा Focus हिल सकता है। और हम उस कार्य को अच्छे से नहीं कर सकते।

ऐसे ही कई बार पढ़ते -पढ़ते हम उकता जाते हैं। और ऐसा लगता है कि कुछ भी दिमाग में नहीं जा रहा है।

ऐसे में आपको अपने brain को फिर से recharge करना होगा।

दरअसल ज्यादा देर तक दिमागी कार्य करने से हमारे neurotransmitter जैसे acetylcholine आदि खत्म हो जाते हैं। और हम अपने काम पर Focus ही नहीं कर पाते।

इसलिए हमेशा 45 मिनट के बाद ब्रेक लेते रहें।

किसी garden , पार्क या जंगल में walk पर जायें।

मैडिटेशन करके stress को दूर रखें।

Dry Fruits जैसे बादाम ,अखरोट, काजू आदि खाएँ। जो दिमाग के लिए अच्छे होते हैं।

Music सुनें।

Hobbies को समय देकर खुद को relax करें। आदि।

इस सबसे आपका दिमाग फिर से तरो -ताजा हो जायेगा। और आप अगले घंटे फिर से Hyperfocus के साथ काम कर सकते हो।

Chapter 8: Connecting Dots 

कई बार हमारे दिमाग में कोई problem चल रही होती है। और हमें उसका कोई solution नहीं मिलता। ऐसे में हमें Hyperfocus का इस्तेमाल करना चाहिए।

सबसे पहले problem के सभी पहलुओं को लिख लीजिये।

इसके बाद एक हफ्ते का समय दीजिये। और उस problem से related जो भी solutions आदि दिमाग में
आयें उन्हें भी नोट करते जाइये।

इसके बाद नयी environment में जाइये। नए लोगों से मिलिए। या Youtube आदि से प्रॉब्लम से रिलेटेड नया ज्ञान हासिल कीजिये।

और अंत में सारे dots को connect कर दीजिये।

जैसे अगर किसी को बॉलीवुड एक्टर बनना है। तो वह सोच सकता है कि auditions देगा।
लेकिन Focus बना कर सोचें तो यह भी हो सकता है कि पहले किसी भी डिपार्टमेंट में छोटा सा काम कर लें।
उसके बाद कोई नेटवर्क बनायें। और बाद में अपने लिए role हासिल करें।

तो इस तरह Hyperfocus आपको creative भी बना सकता है। जिससे आप अपनी लाइफ की हर problem को solve कर सकते हैं।

Chapter 9: Collecting Dots

कई बार हमें problems के बिंदु (dots ) जोड़ने ही नहीं होते हैं बल्कि नए बिंदु ढूँढने भी चाहियें।

जैसे ऊपर के example में अगर किसी को actor बनना है तो उसे और भी जानकारी इक्कठी करनी चाहिए।

जैसे बॉलीवुड में auditions कहाँ होते हैं। फिल्म इंडस्ट्री के लोग कौन से restaurant या bar में जाते हैं। या कौन से gym में exercise करते हैं। उनके maids आदि कहाँ रहते हैं। और उनसे दोस्ती कैसे की जा सकती है।

किसी एक्टिंग स्कूल के जरिये कैसे contacts बढ़ाये जा सकते हैं। Trade magazines या Youtube, Linkedin आदि से कैसे फिल्म इंडस्ट्री की जानकारी मिल सकती है। आदि। आदि।

जब किसी aspirant के पास ये सारी जानकरी या dots हो जायेंगे तो फिर उन्हें जोड़ना बहुत आसान हो जायेगा ,
और success के chances दूसरे लोगों से कहीं ज्यादा बढ़ जायेंगे। जो सिर्फ auditions पर ही उम्मीद लगाए बैठे होते हैं।

इसलिए हर problem के आगे -पीछे, ऊपर -नीचे और चारों ओर के पहलुओं पर भी गौर करना चाहिए। इससे solution जल्दी मिलेगा।

Chapter 10: Destress with Gratitude

अपनी ख़ुशी के लिए काम करें। इससे आपका Focus अपने -आप ही अच्छा होगा।

हर दिन सोने से पहले Universe का Gratitude (आभार) मानें। उसे thank you बोलें। उससे कहें कि इतना अच्छा दिन देने के लिए धन्यवाद।

Sunlight के लिए धन्यवाद। Oxygen के लिए धन्यवाद। Food के लिए धन्यवाद।

हम Universe से हर चीज लेते ही हैं। बदले में उसे कुछ नहीं देते। इसलिए उसे Thank You बोलकर अपना Gratitude जाहिर करें। इससे आपको यह भी लगेगा कि आपके पास सब कुछ है। और आपके अंदर ख़ुशी का संचार होगा।

इसके अलावा हर दिन diary लिखें। इससे आपको अपनी जिंदगी के बारे में clarity मिलेगी। अक्सर meditation करें। आखें बंद करके ध्यान लगायें और अपने ईश्वर को देखें।

साथ ही जब भी मौका मिले, दूसरों की help करते रहें। इससे आपको लगेगा कि आप बहुत useful person हैं। और आपको खुद पर गर्व होगा।

समाप्त।

दोस्तो, इस किताब (Hyperfocus summary in Hindi ) की समरी पढ़कर आपने भी सीखा होगा कि अपनी concentration और focus कैसे बढ़ाना है। इससे आपको जटिल समस्याओं को सुलझाने में मदद मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to Top