Mindset Hindi Book Summary

Book Mindset Summary in Hindi – आप जिंदगी में सफल होंगे या असफल, ये आपके Mindset पर निर्भर करता है। लेखिका के अनुसार दो तरह के Mindset होते हैं – 1) Fixed Mindset और 2) Growth Mindset .

Mindset – Carol Dweck

Fixed Mindset वाले लोग जिंदगी में ज्यादा achieve नहीं करते। जबकि Growth Mindset वाले दुनिया को हिला डालते हैं। आइये इस सबकी details आगे समरी में पढ़ते हैं।

Author: Carol Dweck

Mindset (Summary in Hindi)

किताब के सभी Chapters की summary इस प्रकार से है।

1) Fixed Mindset

कुछ लोग यही सोचते रहते हैं की Success तो सिर्फ talent वाले लोगों को ही मिलती है। यह सोचकर वे life में कुछ भी नया करने की कोशिश नहीं करते। इसे ही Fixed Mindset बोला जाता है।

वे सोचते हैं कि उनमें नयी चीज को सीखने का talent ही नहीं है। और अगर वे कोशिश करेंगे तो हमेशा Fail ही होंगे।

अगर वे कोशिश करते भी हैं और Fail हो जाते हैं तो बहुत insulted feel करते हैं। और दुबारा उस काम को हाथ न लगाने की कसम खा लेते हैं। ऐसे लोग जिंदगी भर एक ही जॉब करते रहते हैं।

Fixed Mindset वाले लोग हमेशा दूसरों की चिंता करते रहते हैं। वे हर काम यही सोच कर करते हैं कि दूसरे क्या कहेंगे। वे सोचते हैं कि दूसरे लोग उनके किसी काम का मजाक न बनायें। और हमेशा उनकी तारीफ करते रहें।

इसलिए वे सारे काम अपने लिए न करके दूसरों को ध्यान में रखकर करते रहते हैं। उनका मकसद दूसरों को खुश रखना होता है। लेकिन ऐसा होता नहीं है। दूसरे लोग आपके अच्छे काम में भी कोई बुराई ढूँढ ही लेते हैं।

इसलिए Fixed Mindset वाले लोग कभी सच्ची ख़ुशी हासिल नहीं कर पाते। और जीवन भर कुढ़ते रहते हैं।

2) Growth Mindset ( Book Mindset Summary in Hindi)

इसके विपरीत Growth Mindset वाले होते हैं। वे सोचते हैं कि कोई भी नयी skill सीखी जा सकती है। उसमें hard – work और time जरुर लगेगा लेकिन एक दिन वे उसमें expert बन सकते हैं।

उनमें बच्चों जैसी curiosity होती है। वे हमेशा नयी – नयी चीजें सीखते रहते हैं।

उन्हें Fail होने से कोई डर नहीं होता। वे बार -बार Fail होकर फिर से try करते रहते हैं। जैसे Bicycle सीखती बार जो बार -बार गिरकर भी try करता रहता है अंत में वह उसका expert बन जाता है।

Growth Mindset वाले लोग किसी की निंदा या मजाक की चिंता नहीं करते। बल्कि वे निडर और उत्साही होते हैं।

वे खुद को घटिया मानसिकता वाले लोगों से दूर रखते हैं। और अपने से ज्यादा जानने वाले लोगों के प्रति विनम्र रहते हैं। इससे वे उनसे और ज्यादा सीख पाते हैं।

वे दूसरों की तरक्की से जलते नहीं हैं। बल्कि inspiration लेकर खुद भी आगे बढ़ते रहते हैं। वे एक दूसरे की मदद करते हैं और इससे उनकी और ज्यादा Growth हो जाती है।

Lateral thinking summary in Hindi

3) Examples of Fixed and Growth Mindset

लेखिका ने Fixed और Growth Mindset समझने के लिए दो लोगों का example दिया है।

Lee Lacocca पहले Chrysils Motors के CEO थे। उन्होंने इस कंपनी को तब join किया था जब यह Bankruptcy (दिवालिया) की कगार पर थी। उन्होंने अपने wise decisions से कंपनी को फिर से उबार दिया।

लेकिन उसके बाद उनमें Ego आ गयी और वे Fixed Mindset के हो गए। उन्हें लगा अब तो कंपनी अपने आप ही चलती रहेगी।

वे खुद को superior मानने लगे और दूसरे employees को inferior। वे किसी का भी suggestion नहीं सुनते थे। उन्हें लगता था उनके सारे decisions सही होते हैं।

लिहाजा धीरे -धीरे कंपनी की Growth रुक गयी और उन्हें इस्तीफ़ा देना पड़ा।

दूसरा example Lou Gerstner का है जो IBM के CEO थे। उन्होंने कंपनी को डूबने से बचाया था।

उन्होंने देखा कि कंपनी में सब अपनी Personal Growth पर काम कर रहे थे। उन्होंने teamwork को बढ़ावा दिया। ऐसे employees को रिवॉर्ड दिया जो coworker की हेल्प करते थे।

साथ ही वे खुद भी एक normal employee की तरह काम करते थे। उन्होंने सब employees को कंपनी की ग्रोथ के लिए काम करने के लिए मोटीवेट किया। और समझाया कि कंपनी की ग्रोथ से ही वे सब भी grow करेंगे और उनकी jobs बच पायेंगी।

लिहाजा IBM आज भी अग्रणी companies में से एक है। source – Mindset Summary in Hindi .

4) Impact of Parents On Mindsets

माता -पिता के बर्ताव का बच्चों के mind पर गहरा प्रभाव पड़ता है। अगर कोई माता -पिता बच्चों को हमेशा छोटी -छोटी गलतियों के लिए डाँटते रहते हैं तो ऐसे बच्चे बड़े होकर Fixed Mindset के हो जाते हैं।

उन्हें लगता है कि वे life में कोई भी काम ठीक से नहीं कर सकते। उनमें हीन -भावना भर जाती है।

वहीं दूसरी ओर जो माता -पिता बच्चों कि अक्सर प्रशंशा करते हैं। उन्हें प्रेरित करते हैं। गलती होने पर तर्क के जरिये उन्हें समझाते हैं, ऐसे बच्चे life में बहुत आगे जाते हैं। क्युँकि उनके अंदर Growth Mindset विकसित होता है।

इसलिए माता -पिता को अपने बर्ताब पर ध्यान देना चाहिए।

5) Impact of Teachers On Mindsets – book Mindset Summary in Hindi

स्कूल के टीचर भी हमारे Mindset को प्रभावित करते हैं। कुछ टीचर Fixed Mindset वाले होते हैं। वे सोचते हैं कि कुछ बच्चे बहुत intelligent हैं और वे life में बहुत आगे बढ़ेंगे। और कुछ बच्चे duffer हैं वे life में कुछ नहीं करेंगे।

इसलिए वे हमेशा इंटेलीजेंट बच्चों पर ही ध्यान देते हैं। और slow learners की कोई extra help ही नहीं करते। वे यह भी नहीं देखते कि ऐसे बच्चों के marks कम क्यों हैं। उनके लिए क्या ऐसी strategy लगाई जाये कि उनके marks भी अच्छे हो सकें।

ऐसे बच्चों का Mindset हमेशा के लिए fixed type का हो जाता है। वे सोच लेते हैं कि उन्होंने स्कूल में अच्छा perform नहीं किया था इसलिए शायद वे कभी life में बड़ा नहीं कर पायेंगे।

इसके उल्टा कुछ teachers Growth Mindset वाले होते हैं। वे slow learners को extra class देते हैं। या आसान भाषा में examples के साथ समझाते हैं। Fail होने पर भी वे उन्हें प्रेरित करते हैं।

ऐसे बच्चे कम marks होने पर भी life में बहुत तरक्की करते हैं। इसलिए teachers को भी अपने behavior को Growth Mindset वाला बनाना चाहिए।

6) Anyone Can Build a Growth Mindset

हर कोई अपने behavior को change करके अपने अंदर Growth Mindset विकसित कर सकता है।

यदि आप ऐसे माता -पिता हैं जो बच्चों को हमेशा criticize करते रहते हो तो खुद को बदलें।
Criticism की जगह उन्हें motivate करें। अच्छा काम करने के लिए उन्हें compliment दें और appreciate करें।

गलती होने पर उन्हें logically समझायें।

अगर आप ऐसे टीचर हैं जो slow learner का मजाक उड़ाते हैं या उनकी कोई help नहीं करते, तो खुद को बदलें। मजाक उड़ाने की जगह आप उन्हें concepts को फिर से समझायें। या समझाने की सरल तकनीक ढूँढें। अपने अंदर patience लायें। और students को motivate करते रहें।

अगर आप ऐसे व्यक्ति हो जिसे स्कूल और घर में criticize ही किया जाता रहा हो, तो भी आप अपने अंदर Growth Mindset रखें। एक Goal बनायें और ख़ामोशी से उसकी तरफ बढ़ते रहें।

Negative लोगों की बातों को मन में ही न रखें। जैसे जब हाथी चलता है तो कुत्ते भौंकते हैं। ऐसे में हाथी क्या करता है। कुछ नहीं। वह अपने गंतव्य की तरफ बढ़ता रहता है। वह चाहे तो कुत्तों को कुचल भी सकता है। लेकिन नहीं वह negative लोगों से नहीं उलझता। ऐसा करने से उसके अंदर Mental Peace बनी रहती है। और रात को नींद भी अच्छी आती है।

आप खुद से कहें कि criticism में बोली गयी बातें सही नहीं हैं। मैं Critics को माफ़ करता हूँ क्युँकि वे मेरे unique talents को जानते ही नहीं हैं।

मैं life में धीरे -धीरे नयी skills सीखूँगा। और एक दिन सबको सफल होकर दिखा दूँगा।

कहा भी गया है – सफलता सबसे अच्छा प्रतिशोध है।

7) Breaking The Fixed Mindset (Mindset Summary in Hindi)

Fixed Mindset बुरी आदतों की तरह होता है। बहुत बार हम effort ही नहीं करना चाहते। हम यह मान लेते हैं कि यह बहुत difficult है।

लेकिन इसका सरल तरीका यह है कि किसी भी कठिन काम को टुकड़ों में बाँट लिया जाये। जैसे अगर आपको 2000 शब्दों की ब्लॉग पोस्ट लिखनी है तो एकसाथ न लिखें। बल्कि 500 शब्द सुबह लिखें, 500 दोपहर को, 500 शाम को और 500 सोने से पहले।

इस तरह आपको यह काम बोझ भी नहीं लगेगा। और आप बहुत ही effectively इसे कर पायेंगे।

शुरू में यह tough लगेगा। लेकिन हर दिन ऐसा करते रहने से आपको आदत पड़ने लगेगी। और आपका
Fixed Mindset बदल कर Growth Mindset हो जायेगा।

8) Anyone Can Change

लेखिका कहती हैं कि कई बार Success के लिए दूसरे factors भी जिम्मेवार होते हैं। जैसे अगर कोई किसी Rich family में पैदा हुआ है तो उसकी success के chances ज्यादा हो जाते हैं।

लेकिन इसके बाबजूद गरीब घर में पैदा होने वाले व्यक्ति भी आगे चलकर Success प्राप्त कर सकते हैं।
बशर्ते वे Growth Mindset अपनायें।

कभी भी यह न सोचें कि आपके स्कूल और कॉलेज में grades कम थे, इसलिए life में success नहीं मिलेगी।
क्युँकि life में स्कूल के subjects काम ही नहीं आते हैं।

जैसे क्या आपने कभी algebra, daily life में इस्तेमाल किया है ? या संस्कृत के श्लोक इस्तेमाल किये हैं ?
तो स्कूल के marks का सफलता में इतना योगदान नहीं होता है।

बहुत से start – up founder इसके example हैं। सिर्फ चाय बनाकर आजकल युवक अपनी start -up शुरू कर रहे हैं।

Kinley और Bisleri जैसी companies सिर्फ पानी बेचती हैं। जो कोई rocket science वाला product भी नहीं है।

इस तरह past की performance को अपने रास्ते का रोड़ा न बनने दें। हमेशा Growth की सोचें। हमेशा याद रखें – किसी भी उम्र में कुछ भी नया सीखा जा सकता है।

9) Growth Mindset in Business – Mindset Summary in Hindi

Business शुरू करती बार आपको लोगों को lead करना पड़ता है। अच्छा Boss वो होता है जिसमें कोई Ego नहीं होती। वह हमेशा नया सीखने को तैयार होता है। वह Growth Mindset वाला होता है।

ऐसा Boss कभी ऐसे नहीं दिखाता कि वह सब कुछ जानता है। बल्कि अपने employees से help लेने को हमेशा तैयार रहता है।

वह टीम के सामने fail होने से भी नहीं डरता। बल्कि example set करता है कि कैसे Fail होने के बाद भी आगे बढ़ा जा सकता है।

साथ ही टीम के Fail होने पर वह उन्हें कोसता नहीं है। बल्कि उनकी mistakes को सुधारने में help करता है।

इसके विपरीत Fixed Mindset वाला बस सोचता है कि वह सबसे ऊपर है। उसकी कोई निंदा न करे। सब उसके orders को आँख बंद करके मानते रहें। वह किसी के suggestions भी नहीं लेता।

इससे team members उसकी कोई respect भी नहीं करते। और दिल से Company के लिए काम भी नहीं करते। वे पहला मौका मिलते ही उस Company को छोड़ कर चले जाते हैं। ऐसे में उस Company का बिज़नेस fail हो जाता है।

10) Applying the Growth Mindset to Love

कई बार life में relationships भी fail हो जाती हैं। Fixed Mindset वाले ऐसे में दुखी हो जाते हैं। उन्हें लगता है दुनिया ही खत्म हो गयी है। और डिप्रेशन में भी चले जाते हैं।

कई बार तो वे बदला लेने की कोशिश भी करते हैं। कुछ तो crime तक कर डालते हैं।

लेकिन इसका नतीजा उनके लिए बहुत बुरा होता है। Crime के लिए उन्हें जेल जाना पड़ता है।
और सारी जिंदगी ही खराब हो जाती है।

इसलिए हमेशा Love में भी Growth Mindset रखना चाहिए। क्या संसार में एक ही व्यक्ति होता है। हर कोई दूसरा Partner तलाश कर सकता है। और हो सकता है कि दूसरा Partner पहले वाले से बेहतर हो।

इस तरह हमें हर difficult situation में Growth Mindset ही रखना चाहिए। इससे life में हमेशा सफलता मिलती रहेगी। और हमारी Growth भी होती रहेगी। Book source – Mindset Summary in Hindi .

समाप्त।

दोस्तो, उम्मीद है Mindset Summary in Hindi पढ़कर आप भी अपना Mindset बदलेंगे और Growth Mindset विकसित करेंगे। इससे आपको life के हर क्षेत्र में सफलता हासिल होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to Top